महर्षि गौतम चाहकर भी वापस नहीं ले सके अपनी पत्नी अहिल्या को दिया श्राप

भगवान श्रीराम ने धरती पर अवतार लेकर मानवजाति का मार्गदर्शन भी किया और कई लोगों का उद्धार किया। उनमें से […]

Learn more →

पिता के अपमान का बदला लेने के संकल्प ने राजा विक्रमादित्य को बना दिया धरती का शक्तिशाली शासक

लगभग 2500 वर्ष पूर्व शकों के आतंक से कई राजा और राज्य काफी परेशान थे, शक एक सोची समझी रणनीति […]

Learn more →

दुर्योधन का जन्म होने पर उसका त्याग करने के लिए कहा था विद्वानों ने

महाभारत का युद्ध सिर्फ उस समयकाल के लिए ही नहीं बल्कि आगे वाली मनुष्य की समस्त पीढ़ियों के लिए एक […]

Learn more →

देववृक्ष पीपल से हो सकता है कई गंभीर बीमारियों का इलाज

सनातन धर्म में पेड़-पौधे, पशु-पक्षी और नदी-झीलों को बराबर का महत्व दिया गया है। धार्मिक आस्थाओं के चलते यह आज […]

Learn more →

मनुष्य रूप में जन्म लेकर भगवान श्रीराम को भी करना पड़ा था अपने हिस्से का संघर्ष

दुनिया का स्वरुप अब बदल गया है, लेकिन जीवन की आवश्कताएं लगभग एक जैसी हैं, सदियों पहले भी इंसान को […]

Learn more →

कुम्भकर्ण जानता था प्रभु श्रीराम हैं भगवान विष्णु का अवतार

लंका के राजा रावण के भाई कुम्भकर्ण को पराक्रम की बजाय उसकी नींद की वजह से पहचाना जाता है। कुम्भकर्ण […]

Learn more →

जब शनिदेव ने गुस्से में राजा विक्रमादित्य से कहा.. ‘तुम मुझे नहीं जानते’

एक समय स्वर्गलोक में ‘सबसे बड़ा कौन’ के प्रश्न को लेकर सभी देवताओं में वाद-विवाद प्रारम्भ हुआ और फिर परस्पर […]

Learn more →