82 साल की बुजुर्ग महिला ने दी कोरोना को मात, ऑक्सिजन लेवल गिरा लेकिन नहीं छोड़ी ज़िंदगी की आस

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि इस समय हमारा देश किस परीस्थीति से गुजर रहा है. कहीं पर ऑक्सीजन की कमी है तो कहीं पर Remdesivir Injection की. यहां तक कि लोगों को अस्पताल का बेड मिलने में भी कई दिक्कतें हो रही हैं. इसी बीच एक ख़बर सामने आई है कि 82 साल की बुजुर्ग महिला ने कोरोना को मात दे दी है.
Home Isolation में रहने वाली गोरखपुर की 82 साल की बुजुर्ग महिला ने कोरोना को घर मे रहते हुए हरा दिया है. जानकारी के अनुसार, उनके बेटे श्याम ने बड़ी मेहनत और लगन के साथ व सूझ बूझ से अपनी माता जी को बचा लिया है.

ImageSource

जानकारी है कि 82 वर्षीय बुजुर्ग महिला को कोरोना के साथ-साथ डायबिटीज, ब्लड प्रेशर भी है जिसके चलते उनके बेटे ने पूरी पूरी रात जागकर अपनी मां का ख्याल रखा. कोरोना संक्रमित होने की वजह से इनकी मां का Oxygen लेवल 79 हो गया था. उसके बाद डॉक्टरों की सलाह से ऑक्सीजन दिया गया. अब खुशी की बात यह है कि सुधार होने लगा है.

श्याम के बड़े भाई ने पूरे घटनाक्रम के बारे में बताया कि” 12 अप्रैल को मां की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आई थी. उसके बाद मेरे छोटे भाई श्याम ने मां की खूब सेवा की. मां को पेट के बल सुलाया, लौंग, कपूर, अजवाइन की पोटली बनाकर मां को सुंघाते रहे, इस तरह करने से 12 दिन बाद काफी सुधार दिखाई दिया, अब मां का ऑक्सीजन लेवल 97 है.” इसे आप कह सकते हैं कि भगवान की कृपा है कि उनका उपाय सफल हुआ. हम यही आशा करते हैं कि भगवान ऐसे ही देश के सभी को लोगों को इस संकट काल से बाहर निकालें. अच्छा है इनका उपाय काम आया, लेकिन आप लोगों को बताना चाहेंगे कि यह चिक्तसिय रूप से सिद्द नहीं हुआ है. ऐसे में आप इस उपाय को अपनाने से पहले किसी अच्छे जानकार से सलाह ज़रूर लें.

इन दिनों ऐसी ख़बरें बहुत सुनने को मिल रही हैं कि देश के अस्पतालों में मरीजों को बेड नहीं मिल पा रहा है. ऐसे में हम उन सभी लोगों से रिक्वेस्ट करना चाहते हैं कि आप लोग घर में रहकर Isolation के नियमों का पालन करें.

उम्मीद करते हैं कि देश के हालत जल्दी सुधरें और फिर हम पहले की तरह आजादी से जी सकें. पर फिलहाल आपको घर में रहना है और बहुत ही ज़रूरी हो तो ही घर से बाहर निकलें. और निकलते समय सभी आवश्यक दिशा निर्देशों का पालन करें.