मध्यप्रदेश के ग्वालियर और ओरछा के नाम बड़ा रिकॉर्ड, शामिल होंगे यूनेस्को की वर्ल्ड हेरिटेज सूची में

अद्भुत शहरों और नगरों का देश है भारतवर्ष, यहाँ की मिट्टी में धर्म, संस्कृति और संस्कारों की खुश्बू बसी हुई है. हर राज्य की अपनी एक अलग ही पहचान है, और शहर की अपनी अनोखी शान है. काश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक इस देश की बेहतरीन विरासत है. जिसमें कई ऐतिहासिक इमारतें, दर्शनीय स्थल और हर एक जगह की अपनी कुछ ख़ास कहानी है.

ImageSource

मध्यप्रदेश के ऐतिहासिक शहर ग्वालियर और ओरछा को अब यूनेस्को द्वारा वर्ल्ड हेरिटेज सिटी की सूची में जगह मिलने जा रही है. ये बहुत बड़ी उपलब्धि है, देश और प्रदेश के लिए ये गौरव की भी बात है. पर्यटन विभाग के इस प्रस्ताव के लिए यूनेस्को की तरफ से भी स्वीकृति मिल गई है. वैसे तो इस देश के कई प्रमुख स्थान और इमारतें पहले से ही इस सूची में शामिल हैं, पर अब एक साथ मध्यप्रदेश के दो शहर यूनेस्को के इस ख़ास पायदान पर अपनी जगह बनाने जा रहे हैं, और अब पर्यटन विभाग और यूनेस्को दोनों मिलकर इन दोनों शहरों के लिए काम करेंगे और मास्टर प्लान बनाकर इन दोनों को हेरिटेज सिटी टाउन के रूप में विकसित किया जाएगा.

जानकारी के अनुसार इसके लिए अनुबंध तो पहले ही हो चुका है, और अब अगले साल यानी 2021 में यूनेस्को की टीम यहाँ आकर अपनी निगरानी में मास्टर प्लान तैयार करेगी.

मध्यप्रदेश पर्यटन विभाग के अधिकारी शिव शेखर शुक्ला के अनुसार, ‘यूनेस्को ने हमारे प्रस्ताव को मंज़ूरी दे दी है. जिसके तहत ग्वालियर और ओरछा की हेरिटेज संपदा को व्यवस्थित और निखारने का काम शुरू किया जाएगा. यूनेस्को की वेबसाइट पर दोनों शहरों के आने से यहाँ के पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा.’

ImageSource

एक एक कदम तरक्की की तरफ बढ़ते हमारे देश ने पिछले कुछ वर्षों में पूरी दुनिया के समक्ष अपनी सशक्त उपस्थिति दर्ज की है. भारत की प्रतिभाएं तो पूरी दुनिया में अपना और देश का नाम रोशन कर ही रहीं हैं, इसके साथ ही इस देश की गौरवशाली विरासत भी दुनिया को आकर्षित कर रही है.