लंका पर विजय प्राप्त कर माता सीता को अपने साथ लाकर ऐसी रही होगी प्रभु राम की प्रसन्नता

जब से माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर का शिलान्यास किया है तब से लेकर अब तक देखा गया है कि राम भक्तों में जोश बढ़ता ही जा रहा है. और जोश बढ़े भी क्यों ना इतने साल तक संघर्ष जो किया है. जब से निर्माण कार्य शुरू हुआ तब से देश-विदेश से राम भक्त किसी न किसी रूप से निर्माण कार्य में सहयोग कर रहे हैं. इन दिनों राम मंदिर से जुड़ी कई ख़बरे आ रही हैं जैसे,

ImageSource

1.खुदाई का काम पूरा हो गया है. अब जल्द ही अयोध्या में भव्य राम मंदिर की नींव रखने के लिए बहुप्रतीक्षित निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा.
2. जानकारी के अनुसार अब तक 5457 करोड़ रुपये की राशि राम भक्तों ने राम मंदिर के निर्माण कार्य के लिए दी है.
3.सुनने में आ रहा है कि अयोध्या नगरी में भगवान राम की 5 फुट कोदंड प्रतिमा लगाई जाएगी. अभी यह विश्व हिंदू परिषद मुख्यालय कारसेवकपुरम में सुरक्षित रखी गई है. यह प्रतिमा ग्वालियर के राम भक्त ने भेजी है. यह प्रतिमा मेटल कोटेड फाइबर धातु से बनी है.

इस प्रतिमा के विषय पर श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चपंत राय ने बताया कि ग्वालियर से जिस राम भक्त ने यह प्रतिमा भेजी है उन्होंने इस प्रतिमा के जरिए भगवान राम जी की प्रसन्नता को दिखाने की कोशिश की है. उनका कहना है कि भगवान श्री राम जब लंका पर विजय प्राप्त कर के लौटे और माता सीता को रावण से मुक्त कराने के बाद प्रभू राम को जिस तरह की प्रसन्नता रही होगी, उस प्रसन्नता को प्रतिमा की जरिए दिखाने की कोशिश की गई है.

चपंत राय जी कहते हैं कि इस विषय पर सभी लोगों से विचार विमर्श कर ही इस प्रतिमा को रामजन्मभूमि पर नियम अनुसार स्थापित किया जाएगा.

बताया जा रहा है कि मंदिर का कार्य तेजी से चल रहा और भगवान राम मंदिर 2024 तक बनकर तैयार हो जाएगा.