धनतेरस के दिन सोना व चांदी खरीदें पर ये न खरीदें…

कार्तिक मास की कृष्ण त्रयोदशी को धनतेरस कहते हैं. दीवाली से दो दिन पहले इस पर्व को मनाया जाता है. ये दिन बहुत शुभ होता है, इस शुभ दिन लोग अपनी आर्थिक स्थिति के अनुसार सोने व चांदी से बनी धातु या बर्तन खरीदते हैं. लेकिन कुछ लोग आर्थिक रूप से कमजोर होने की वजह से शगुन के तौर पर पीतल, तांबे से बनी चीज़ों को घर में लाते हैं. इस दिन मृत्यु के देवता यमराज और भगवान धन्वंतरि की पूजा की जाती है. मृत्यु देवता यमराज के लिए मुख्य द्वार पर भी दीपक जलाना शुभ होता है.

ImageSource

धार्मिक ग्रंथों के अनुसार समुद्र मंथन के समय भगवान धनवंतरि सोने के कलश में अमृत लेकर आए थे. और सोना ख़रीदने का यही मुख्य कारण है. कहते हैं कि अगर आप इस दिन खरीदे हुए बर्तन पर दिया व प्रसाद रखकर माता लक्ष्मी, गणेश जी, कुबेर व भगवान धनवंतरि की आरती करते हैं तो घर में सुख समृद्धि की वृद्धि होती है. साथ ही बीमारियों व नकारात्मक ऊर्जा से मुक्ति मिलती है.
धनतेरस पर क्या खरीदें और क्या नहीं

इन दिनों सोने का भाव आसमान छू रहा है ऐसे में ज़्यादातर लोग चांदी, व तांबे से बनी चीजें खरीदते हैं. कुछ लोग गाड़ी खरीदते हैं तो कुछ प्रॉपर्टी संबंधी चीज़ों में निवेश करते हैं, तो कुछ स्टील व मिट्टी से बने दिये, बर्तन खरीदते हैं. कुल मिला कर यह पूरा दिन शुभ होता है ऐसे में किसी भी समय पर आप अपनी शॉपिंग कर सकते हैं.

ImageSource

 

इस शुभ अवसर पर लोहे से बने बर्तन , तवा, चिमटा आदि ज़रूरी न हो तो न खरीदें. कहतें हैं कि इस शुभ दिन के समय नुकीली धातु से बनी चीजें जैसे चाकू, छुरी, कैंची, कांच, प्लास्टिक व एल्युमिनियम से बने बर्तन खरीदने से बचना चाहिए.