आज है अक्षय तृतीया, बरसेगी माँ लक्ष्मी की कृपा क्षमता के अनुसार ज़रूर करें दान

भारत त्योहारों का देश है, यहाँ हर त्यौहार में जीवन के रंग शामिल होते हैं. गणेश चतुर्थी, नवरात्रि, दशहरा, दीवाली, होली, रक्षा बंधन, मकर संक्रांति, जन्माष्टमी, महाशिवरात्रि, वैसाखी से लेकर अक्षय तृतीया तक एक से बढ़कर एक त्यौहार और उनको मनाने के अलग अलग तरीके, यही तो है भारत और सनातन संस्कृति की पहचान, जो हर भारतीय के लिए बहुत महत्वपूर्ण है. आज 14 मई, शुक्रवार के दिन अक्षय तृतीया का पावन पर्व बडे़ धूम- धाम से मनाया जा रहा है. इस दिन का बहुत अधिक महत्व होता है. अक्षय तृतीया को आखा तीज के नाम से भी जाना जाता है. इस बार अक्षय तृतीया पर बहुत ही शुभ योग बन रहा है. ज्योतिष गणनाओं के अनुसार आज सूर्य मेष राशि से वृष राशि में प्रवेश कर जाएंगे. शुक्र, बुध और राहु पहले से वृष राशि में विराजमान है. इस दिन चार ग्रह एक ही राशि में आ जाएंगे. इस दिन चंद्रमा भी वृष राशि में आ जाएंगे. अक्षय तृतीया के दिन संध्या काल में चंद्रमा मिथुन राशि में प्रवेश कर जाएंगे. ज्योतिष मान्यताओं के अनुसार चंद्रमा के मिथुन राशि में प्रवेश करने से धन लाभ होने के योग बन जाते हैं. साथ ही इस बार गज केसरी योग भी है. जो बहुत ही शुभ माना जाता है. अक्षय तृतीया एक ऐसी सर्वसिद्धि देने वाली तिथि मानी जाती है, यह दिन मां लक्ष्मी की कृपा पाने का सबसे शुभ और अच्छा दिन होता है.

ImageSource

अक्षय तृतीया के पावन दिन खरीददारी और निवेश करना बहुत ही शुभ माना जाता है. पर इस बार हालत थोड़े मुश्किल हैं. क्योंकि पूरा देश और दुनिया कोरोना महामारी की भयावह परिस्थिति से जूझ रही है. इसलिए समय की नजाकत देखते हुए घर में ही रहना सुरक्षित है, इसलिए खरीदारी करने के लिए बाहर न जाएं. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन किए गए कार्यों में सफलता जरूर मिलती है.

इसके अलावा अक्षय तृतीया के दिन दान करने का बहुत अधिक महत्व होता है. इस दिन दान करने से कई गुना फल की प्राप्ति होती है. इसलिए आज के दिन अपनी क्षमता के अनुसार दान जरूर करें.